Home Remedies For Eye Pain In Hindi: आंखों में दर्द, जलन, सूजन का रामबाण घरेलू उपचार

By | February 20, 2023
Home Remedies For Eye Pain In Hindi
0
(0)

Home Remedies For Eye Pain In Hindi: आंखें हमारे शरीर के सबसे नाजुक और संवेदनशील अंगों में से एक हैं, इसलिए कोई भी चीज इन पर बहुत जल्दी असर करती है, अगर आंखों में कोई परेशानी हो तो आंखों में दर्द होने लगता है। आजकल दिन भर कंप्यूटर के सामने काम करने या फिर मोबाइल पर आंखें गड़ाए रहने के कारण आंखों में दर्द होने लगता है और सिर दर्द होने लगता है। लेकिन इसके बारे में विस्तार से जानकारी होना भी जरूरी है। तो आइए इसके बारे में आगे विस्तार से जानते हैं।

आंखों का दर्द कभी-कभी अपने आप ठीक हो जाता है लेकिन यह कभी-कभी अधिक गंभीर स्थिति का संकेत हो सकता है। इसलिए जरूरी है कि आंखों की अच्छे से देखभाल की जाए।

Types of Eye Pain in Hindi – आंखों के दर्द के प्रकार हिंदी में

  • ओकुलर – यह आंख की सतह में होने वाला दर्द है यानी संवेदनशील बाहरी संरचनाओं से आने वाला दर्द।
  • ओर्बिटल (Orbital) – आँख के पीछे महसूस होने वाले गहरे या मध्यम दर्द को कक्षीय दर्द कहा जाता है। आँखों के भीतरी भाग में दर्द, आँखों में एक प्रकार की धड़कन और किरकिरापन के साथ।

What is Eye pain – आँखों का दर्द किसे कहते है

आयुर्वेद के अनुसार हमारे शरीर में तीन दोष होते हैं वात, पित्त और कफ। अगर यह संतुलित अवस्था में रहे तो शरीर स्वस्थ और रोगमुक्त रहता है। अनुचित आहार और जीवन शैली के कारण यह असंतुलित हो जाता है और बीमारियों को जन्म देता है।

शरीर में दर्द का कारण वात दोष बताया गया है, इसलिए जीवनशैली और खान-पान में गड़बड़ी के कारण तीनों दोष विकृत हो जाते हैं और आंखों में दर्द होने लगता है। यह मुख्य रूप से वात दोष से बढ़ जाता है, यदि दर्द के साथ-साथ जलन और लालिमा हो तो यह पित्त दोष के कारण होता है। आयुर्वेदिक उपचार दोषों को बढ़ाकर और रोग को शांत करके बढ़े हुए दोषों को कम और कम करके दोषों को एक समान स्थिति में लाता है।

Eye Pain Causes in Hindi – आँखों में दर्द के कारण हिंदी में

  • धूल के संपर्क में आने के कारण
  • मोबाइल, लैपटॉप स्क्रीन के सामने ज्यादा समय बिताना
  • कॉन्टैक्ट लेंस का अत्यधिक उपयोग
  • आंख में चोट लगने के कारण
  • उच्च तनाव के कारण
  • नींद की कमी
  • शरीर का निर्जलीकरण
  • बहुत अधिक दवाएं लेना
  • रसायनों के संपर्क में

इसके अलावा पलकों के बाल और अन्य कचरा आदि भी आंखों में समस्या पैदा कर सकते हैं। कैविटी यह आंखों की पलकों की ग्रंथियों का संक्रमण है जिससे पलकों के साथ-साथ आंखों में भी दर्द होता है। कई बार बैक्टीरियल इंफेक्शन या वायरल इंफेक्शन के कारण भी आंखों में दर्द होने लगता है।

Symptoms of Eye Pain in Hindi – आँखों में दर्द के लक्षण हिंदी में

आंखों में दर्द होने पर बहुत दर्द होता है और इसके कारण व्यक्ति कोई भी काम नहीं कर पाता है। आंखों में दर्द के साथ अन्य लक्षण भी होते हैं जैसे रोशनी के प्रति संवेदनशीलता, आंखों में लाली, जलन, पानी जैसा डिस्चार्ज और सिरदर्द।

हालांकि यह दर्द ज्यादातर उन लोगों में होता है जो हाई पावर का चश्मा पहनते हैं, लेकिन कभी-कभी सामान्य तौर पर भी आंखों पर ज्यादा जोर पड़ने या कई घंटे टीवी देखने के कारण होता है। और कंप्यूटर के सामने बैठने से भी आंखों में दर्द होने लगता है। आंखों में दर्द के साथ कभी सिर दर्द होता है तो कभी आंखों के साथ-साथ सिर के अगले हिस्से में भी दर्द होता है।

  • आंखों में लालिमा और खून के धब्बे
  • आँखों से पानी या अन्य पदार्थ का निकलना
  • जलन होना
  • सिरदर्द या माइग्रेन
  • आंखों में जलन

How to Prevent Eye Pain in Hindi – आँखों के दर्द को कैसे रोकें हिंदी में

शरीर में दर्द होने का मुख्य कारण जीवनशैली और खान-पान में गड़बड़ी होना है। संतुलित और उचित आहार हमें कई बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है। इसके लिए डाइट और लाइफस्टाइल में थोड़ा बदलाव जरूरी है। जैसा-

  • ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज और नट्स जिनमें ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है। उनका सेवन करें।
  • विटामिन सी युक्त फलों का अधिक सेवन करें, जैसे खट्टे फल, ये आंखों के लिए फायदेमंद होते हैं।
  • कंप्यूटर के सामने ज्यादा देर न बैठें।
  • अधिक देर तक लगातार पढ़ना नहीं चाहिए, बीच-बीच में आंखों को आराम देना चाहिए।
  • प्राणायाम और योग नियमित करें।
  • दिन में 2-3 बार आंखों को ठंडे पानी से धोएं।

Home Remedies for Eye Pain in Hindi – आँखों के दर्द का घरेलू इलाज हिंदी में

  • आंखों में दर्द और जलन के लिए आलू का प्रयोग अच्छा होता है। एक आलू को छीलकर उसकी स्लाइस को कुछ देर आंखों में रखें, कुछ ही देर में दर्द कम होने लगेगा।
  • एक साफ सूती कपड़े को ठंडे पानी में डुबोकर आंखों पर रखें। इससे आंखों को ठंडक मिलती है और दर्द कम होता है। आंखों में सूजन और लालिमा हो तो भी यह उपाय लाभकारी होता है।
  • गुलाब जल की 2-2 बूंद आंखों में डालें और कुछ देर के लिए आंखें बंद कर लें। ऐसा करने से दर्द में आराम मिलता है।
  • इस्तेमाल किए हुए टी बैग्स को फ्रिज में रखें। आंखों में दर्द हो तो इसे फ्रिज से निकालकर ऐसे ही रख दें और फिर आंखों पर रख लें।
  • रोज सुबह हरी घास पर नंगे पैर चलने से आंखों से संबंधित समस्याएं नहीं होती हैं और आंखों की रोशनी बढ़ती है।
  • इंफेक्शन के कारण आंखों में दर्द हो तो रात को तुलसी के पत्तों को साफ पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इस पानी से आंखें धो लें।
  • शहद में जीवाणुरोधी गुण होते हैं और यह एक प्राकृतिक क्लींजर है। आंख में दर्द हो तो शहद की एक बूंद प्रभावित आंख में डालें, शुरू में हल्की जलन होगी, लेकिन आराम मिलेगा।
  • ठंडे पानी में रुई भिगोकर शुद्ध घी आंखों पर लगाने से आंखों के दर्द में आराम मिलता है। घी का औषधीय गुण आंखों के लिए घरेलू उपचार में काम आता है।
  • हरी मसूर की दाल को पीसकर उसका रस आंखों पर लगाने से आंखों का दर्द ठीक हो जाता है और इस तरह की समस्याओं से निपटने की जरूरत कम हो जाती है।
  • गर्म पानी में नमक घोलकर उसमें कपड़ा भिगोकर दिन में 2-3 बार आंखों को कुछ देर मलने से आंखों को आराम मिलता है।
  • आंवले के चूर्ण को रात भर पानी में भिगो दें, सुबह इस पानी से आंखों को धो लें। इसके नियमित सेवन से आंखों की समस्या कम होती है।
  • उबलते पानी में एक चम्मच चीनी और तीन चम्मच धनिये का बारीक चूरा डालकर एक घंटे के लिए ढककर रख दें। फिर इसे कपड़े से छानकर किसी साफ बोतल में भर लें। इसकी दो-दो बूंद सुबह शाम आंखों में डालने से 2-3 दिन में आंखों का दर्द ठीक हो जाता है।

Eye Pain Treatment In Hindi

आंखों में दर्द हो तो उन्हें रगड़ने से बचें। क्‍योंकि इससे आंखों में समस्‍याएं बढ़ जाती हैं और अन्‍य बीमारियां होने लगती हैं। अगर आपको लगता है कि आपकी आंख में कुछ फंस गया है, तो आप अपनी आंख को स्टेराइल सलाइन सलूशन से धो सकते हैं।

यदि दर्द हल्का है, तो आप इबुप्रोफेन जैसी ओवर-द-काउंटर दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन सारा इलाज डॉक्टरों को ही करना चाहिए। आंखों के दर्द का उपचार परीक्षण के प्रकार और दर्द की गंभीरता के अनुसार अलग-अलग हो सकता है। डॉक्टर आंख में दर्द के कारण की पहचान कर उसका इलाज इस प्रकार करते हैं.

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी?

इसे रेट करने के लिए स्टार पर क्लिक करें!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

अब तक कोई वोट नहीं! इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें।

जैसा कि आपको यह पोस्ट उपयोगी लगी...

Follow us on social media!

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी!

आइए इस पोस्ट को सुधारें!

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे सुधार सकते हैं?

See also  Snoring Problem:- खर्राटे क्यों आते हैं, खर्राटों के लक्षण और उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *